International

2000 साल पुराने इस वेश्यालय को खोला तो मिली कुछ अजीबोगरीब चीजें, देखकर आप भी हो जाएंगे हक्का बक्का

आज दुनिया में कई ऐसे देश हैं जिन्होंने वेश्यालय को कानूनी मान्यता दी है और उन्हीं में से एक देश भारत भी है. जी हां भारत में वेश्यालय को कानूनी मान्यता प्राप्त है. रिपोर्ट की मानें तो वेश्यालय दुनिया के इतिहास का सबसे पुराना धंधा माना जाता है. यानी इसकी शुरुआत बहुत पहले ही हो गई थी. आज दुनिया में कई ऐसे देश हैं जो वेश्यालयों को कानूनी रूप से मान्यता दे चुके हैं लेकिन कई ऐसे भी देश हैं जहां पर देह व्यापार गैरकानूनी माना जाता है लेकिन ज़्यादातर देशों में देह व्यापार को कानूनी मान्यता प्राप्त है.

इटली की सभ्यता उन सभ्यताओं में से हैं जो दुनिया की सबसे पुरानी सभ्यता मानी जाती हैं. यानी इटली की सभ्यता सबसे पुरानी सभ्यताओं में शामिल है. बता दें कि आज से लगभग 2000 साल पहले एक ज्वालामुखी के वजह से पश्चिमी इटली का एक शहर पोम्पेई दब गया था. हालांकि, जब साल 1948 में उस जगह पर खुदाई शुरू की गई तो वह पूरा शहर मिल गया. इस शहर में कई ऐसी चीजें मिली जिसको देखने के बाद से लोग हैरान थे. हालांकि, सबसे ज्यादा चर्चा इस शहर में मिले वेश्यालय की हो रही थी.

दरअसल, साल 2006 में इसको आम नागरिकों को देखने की इजाजत दे दी गई जिसके बाद लोग जब घूमने के लिए जाने लगे तो इस दौरान लोगों ने इस शहर में मौजूद एक वेश्यालय को भी देखा. इस प्राचीन वेश्यालय में कुल 10 कमरे थे और सारे कमरों में पत्थर के बेड बनाए गए थे. मीडिया रिपोर्ट की मानें तो इन्हीं पत्थर के बेडो पर वेश्याएं ग्राहकों के साथ अपना समय बिताती थी.

इतना ही नहीं जब इस वेश्यालय को साल 2006 में खोला गया तो इसमें देखा गया कि कई नग्न पेंटिंग भी बनाई गई थी और यह पेंटिंग इस बात की गवाही देती हैं कि किस तरह 2000 साल पहले इटली के शहर पोम्पेई में देह व्यापार चलता था. रिसर्च में दावा किया जाता है कि इटली के शहर पॉम्पेई में देह व्यापार को कानूनी मान्यता नहीं प्राप्त था यानी यह छुप छुपा कर किया जाता था. यहां वेश्याओं को सेक्स गुलाम की तरह रखा जाता था. रिसर्च में यह भी पाया गया कि यहां के पुरुष कई महिलाओं के साथ संबंध बना सकते थे लेकिन यहां की शादीशुदा महिलाएं सिर्फ अपने पति के साथ ही संबंध बना सकती थी.

Back to top button