Entertainment

जब पिता ने विनोद खन्ना के ऊपर तान दी थी बंदूक, माँ ने बचाई थी विनोद खन्ना की जान

विनोद खन्ना 70 और 80 के दशक के सबसे पॉपुलर हीरो माने जाते थे. विनोद खन्ना ने बॉलीवुड फिल्म इंडस्ट्री में कई शानदार शानदार फिल्मों में अपने बेहतरीन एक्टिंग का जलवा बिखेरा है. कहा जाता है कि विनोद खन्ना ने अगर अपने पर्सनल लाइफ में कुछ गलतियां नहीं की होती तो आज यह अमिताभ बच्चन से भी बड़े सितारे माने जाते.

हालांकि इन्होंने अपने पर्सनल लाइफ में कुछ गलतियों की थी जिसके वजह से यह अमिताभ बच्चन के पीछे रह गए लेकिन फिर भी विनोद खन्ना ने बॉलीवुड में काफी ज्यादा लोकप्रियता हासिल की है. दरअसल, विनोद खन्ना का जन्म 6 अक्टूबर 1946 को पाकिस्तान के पेशावर में हुआ था. हालांकि, विभाजन के बाद इनका पूरा परिवार भारत में आकर बस गया था.

विनोद खन्ना ने साल 1968 में आई फिल्म मन का मीत से बॉलीवुड डेब्यू किया था. लेकिन क्या आपको पता है इस फिल्म में काम करने से पहले विनोद खन्ना का उनके पिता जी से लड़ाई हो गया था. दरअसल, विनोद खन्ना एक हीरो बनना चाहते थे. हालांकि, पहले के जमाने में फिल्मी दुनिया में काम करने के लिए कोई भी परिवार अपने बच्चे को नहीं भेजना चाहता था क्योंकि पहले के लोगों का मानना था कि फिल्मी दुनिया अच्छा लाइन नहीं होता है.

और विनोद खन्ना के पिता पेशे से एक बिजनेसमैन थे ऐसे में जब विनोद खन्ना ने अपने पिता से फिल्मों में काम करने की बात कही तो इनके पिता गुस्सा हो गए और उन्होंने अपनी बंदूक उठा ली और तो और उन्होंने यह बंदूक विनोद खन्ना के ऊपर तान दी और कहा कि अगर तू फिल्मों में जाएगा तो मैं तुझे गोली मार दूंगा. हालांकि, तभी विनोद खन्ना की मां ने आकर उन्हें बचा लिया था.

बता दें कि विनोद खन्ना के पिता ने इन्हें 2 साल की मोहलत दी थी और कहा था कि अगर 2 साल के अंदर तू कुछ कर लेता है तो ठीक है नहीं तो तू वापस आकर घर का व्यवसाय संभालेगा. हालांकि, विनोद खन्ना ने इन 2 सालों में फिल्मी दुनिया में जमकर मेहनत की और एक पॉपुलर हीरो बन गए. विनोद खन्ना अपने प्रोफेशनल लाइफ के साथ-साथ पर्सनल लाइफ को लेकर भी काफी ज्यादा सुर्खियों में रहे हैं. विनोद खन्ना ने 27 अप्रैल साल 2017 को कैंसर की वजह से इस दुनिया से अलविदा ले लिया था.

Back to top button