India

अमेरिका की नौकरी ठुकरा कर शुरू किया इडली और डोसा का बिजनेस, आज 500 करोड़ से ज्यादा का है टर्नओवर

अगर परिस्थितियां अनुकूल हो तो व्यापार करना काफी ज्यादा आसान होता है लेकिन अगर परिस्थितियां अनुकूल नहीं है तो व्यापार करना बहुत ही ज्यादा मुश्किल माना जाता है. एक गरीब घर के बच्चे को करोड़ों का व्यापार स्थापित करना मुश्किल ही नहीं बल्कि नामुमकिन लगता है और ऐसा है भी, हालांकि कई लोग ऐसी चीजें नहीं मानते हैं और कुछ ऐसा कर जाते हैं कि पूरी दुनिया उनकी तारीफ करती है और उन्हीं लोगों में से एक नाम पीसी मुस्तफा का है. जी हां एक छोटे से परिवार में जन्मे पीसी मुस्तफा ने इडली और डोसे जैसे आम नाश्ते को बेचकर करोड़ो रुपया की कंपनी खड़ी कर दी और आज इनकी कंपनी सालाना 500 करोड़ का टर्नओवर कर रही है.

कहते हैं कोई भी काम छोटा नहीं होता है बस उस काम को करने का एक तरीका होता है और अगर आपको वह तरीका आता है तो आप किसी भी काम को बहुत बड़ा बना सकते हैं और उस छोटे से काम को एक कंपनी में भी तब्दील कर सकते हैं. जी हां ऐसा ही कुछ किया ल मुस्तफा ने, दरअसल पीसी मुस्तफा ने इडली और डोसा जैसे आम नाश्ते को बेचकर एक बहुत बड़ी कंपनी की स्थापना कर दी और आज इनकी कंपनी करोड़ों का टर्नओवर कर रही है.

मुस्तफा का जन्म वायनाड के एक छोटे से गांव में हुआ था. और इनके पिता पेशे से एक कुली का काम करते थे और इस काम में मुस्तफा भी उनकी मदद किया करते थे. हालांकि, इस काम के वजह से क्लास छठवीं में मुस्तफा फेल हो गए थे जिसके बाद इन्होंने मेहनत से पढ़ाई करनी शुरू की और दसवीं में इन्होंने अपना स्कूल टॉप कर दिया. जिसके बाद इन्हें एहसास हो गया कि पढ़ाई के मदद से ही यह अपनी आर्थिक स्थिति को सही कर सकते हैं. इसके बाद इन्होंने बीटेक की पढ़ाई की और अमेरिका में नौकरी करने चले गए. हालांकि, यह वहां खुश नहीं थे जिसके बाद साल 2003 में यह वापस भारत लौट आएं.

और साल 2005 में इन्होंने आईडी फ्रेश नाम की कंपनी का स्थापना किया. यह कंपनी इडली डोसा बनाने वाले जरूरी मिश्रण को बेचती है. हालांकि, औपचारिक रूप से इस कंपनी की शुरुआत तो साल 2010 में हुई थी और फिर क्या था इन्होंने कभी पीछे मुड़कर नहीं देखा और आज यह बुलंदियों को छू रहे हैं. आज इनकी कंपनी करोड़ों का टर्नओवर कर रही है और इन्होंने 650 से अधिक लोगों को रोजगार भी प्रदान किया है.

Back to top button