India

दिल्ली में चारमीनार ही नहीं बल्कि चोर मीनार भी है, चोर मीनार का इतिहास जानकर हो जाएंगे हैरान

हमारे देश की राजधानी दिल्ली ने कई क्रूर शासकों को झेला है. जी हां क्रूर विदेशी शासकों ने दिल्ली पर आक्रमण किया और राज करने का प्रयास किया और उन्ही शासकों में से एक अलाउद्दीन खिलजी था. इतिहास में अलाउद्दीन खिलजी का नाम दुनिया के सबसे क्रूर शासकों के तौर पर दर्ज किया गया है. अलाउद्दीन खिलजी ने अपने शासन के दौरान क्रूरता की सारी हदों को पार करके रख दिया था. दिल्ली में तमाम शासकों ने कई तरह के मीनारों और महलों का निर्माण किया लेकिन अलाउद्दीन खिलजी ने दिल्ली में एक चोर मीनार का निर्माण किया था और यह चोर मीनार हौज खास के रिहायशी इलाके में स्थित है. आज इस चोर मीनार के बारे में बहुत कम लोगों को पता है लेकिन कभी इस चोर मीनार के आसपास सिर्फ लाशों की बदबू आती थी.

मीडिया रिपोर्ट की मानें तो 13वीं शताब्दी में दुनिया के सबसे क्रूर शासकों के लिस्ट में शामिल अलाउद्दीन खिलजी ने इस चोर मीनार का निर्माण करवाया था. यह चोर मीनार दुनिया के शासकों तथा लोगों के बीच खौफ पैदा करने के मकसद से बनाया गया था. दरअसल, चोर मीनार को चोर डकैत और घुसपैठियों को डराने के मकसद से बनाया गया था. इस चोर मीनार में कुल 225 छेद है और हर एक छेद में एक मृतक का असर लटकाया जाता था. जिससे आम नागरिकों तथा अन्य शासकों में खौफ पैदा हो जाता था और यही कारण है कि आम नागरिक कभी भी किसी तरह का कोई गलत काम भूलकर भी नहीं करते थे.

आपको बता दें कि भारत में जितनी भी हवेलियों और अन्य चीजों का निर्माण विदेशी शासकों ने किया उन सब का जिक्र इतिहास में आपको मिल जाएगा लेकिन चोर मीनार का जिक्र आपको इतिहास में नहीं मिलेगा. राणा सफी कहते हैं कि इस चोर मीनार का जिक्र इतिहास में नहीं मिलेगा और यह शायद जानबूझकर के किया गया है.

Back to top button