India

शादी के बाद शुरू की UPSC की तैयारी, पांचवें प्रयास में इस गृहणी ने पाई सफलता, आज IAS बनकर कर रही है देश की सेवा

यूपीएससी भारत की सबसे कठिन परीक्षा मानी जाती है. इस परीक्षा में हर साल लाखों बच्चे भाग लेते हैं लेकिन इस परीक्षा में मात्र कुछ ही लोग सफल हो पाते हैं. यूपीएससी बहुत ज्यादा कठिन परीक्षा मानी जाती है ऐसे ज्यादातर लोगों का मानना है कि इस परीक्षा को कोचिंग के सहारे या फिर किसी के गाइडेंस के सहारे ही पास किया जा सकता है लेकिन तमाम लोगों ने इस मिथ को गलत साबित कर दिया है और उन्हीं लोगों में से एक नाम अनुकृति शर्मा का है.

अनुकृति शर्मा ने शादी के बाद सेल्फ स्टडी के दम पर यूपीएससी की परीक्षा पास करके यह साबित कर दिया कि इस परीक्षा को सिर्फ किसी के गाइडेंस और कोचिंग की मदद से ही नहीं बल्कि अपने दम पर भी पास किया जा सकता है.

दरअसल, अनुकृति शर्मा का जन्म राजस्थान के जयपुर में हुआ था. इनके पिता सरकारी नौकरी में थे तो वही माँ कॉलेज में पढ़ाती थी. इनका परिवार काफी संपन्न था और पढ़ा लिखा था ऐसे में इनकी लाइफ काफी अच्छे से गुजर रही थी. हालांकि, इन्होंने जिंदगी में कुछ बड़ा करने के बारे में तब सोचा जब यह कॉलेज में थी और इन्हें पता लगा कि इनके कॉलेज के सामने जो चाय बेचता है उसने अपनी बेटी की शादी मात्र 14 साल की उम्र में कर दिया है.

तभी अनुकृति शर्मा को लगा कि उन्हें भगवान ने काफी ज्यादा मौका दिया है और इतना अच्छा परिवार दिया है ऐसे में इन्हें कुछ बड़ा करना है और यही कारण है कि उन्होंने खूब मन लगाकर पढ़ाई की इसके बाद पीएचडी करने के लिए यह यूएस चली गई. पीएचडी करने के बाद यह वापस इंडिया आई और इसके बाद इनकी शादी हो गई.

दरअसल, शादी के बाद से अनुकृति शर्मा ने यूपीएससी का एग्जाम देने और एक आईएएस अधिकारी बनने के बारे में सोचा और इसके बाद इन्होंने इसके बारे में पता करना शुरू किया और फिर क्या था बिना समय गवाएं अनुकृति शर्मा ने यूपीएससी की तैयारी शुरू कर दी. अनुकृति शर्मा ने अपने परिवार को संभालते संभालते अपने यूपीएससी की तैयारी शुरू की और अपने चौथे प्रयास में इन्होंने यूपीएससी की परीक्षा पास कर ली.

जी हां अनुकृति शर्मा ने चौथे प्रयास में 355वां रैंक हासिल करके यूपीएससी की परीक्षा पास कर ली. हालांकि, यह अपने इस रैंक से खुश नहीं थे इसके बाद इन्होंने फिर से तैयारी शुरू की और अपने आखिरी और पांचवे प्रयास में अनुकृति शर्मा ने 138वां रैंक हासिल करके पूरे देश में अपने नाम का परचम लहरा दिया. अनुकृति शर्मा का कहना है कि इन्होंने यूपीएससी की परीक्षा की तैयारी के लिए कोई भी कोचिंग ज्वाइन नहीं किया था. बल्कि इन्होंने इंटरनेट की मदद से ही इसकी तैयारी की थी. अनुकृति का मानना है कि इंटरनेट से बड़ा गुरु इस दुनिया में कोई नहीं है.

Back to top button