IndiaUncategorized

मुस्लिम महिला घर ले आई गणेश जी की मूर्ति, अब मिल रही हैं जान से मारने की धमकी

हमारे देश में धर्म के नाम पर उन्माद कोई नई बात नहीं है. धर्म के नाम पर हमेशा ही लोगों की विचारधाराएं झगडती रहती हैं. खासकर चुनावी माहौल के बीच तो धार्मिक विवाद काफी ज्यादा बढ़ जाते हैं लेकिन हाल ही में एक ऐसी खबर सामने निकल कर आई है. जो धार्मिक सद्भावना उत्पन्न करने के लिए काफी कारगर साबित हो रही है. दरअसल, गणेश चतुर्थी के मौके पर एक मुस्लिम महिला अपने घर में गणपति बप्पा की मूर्ति लेकर आ गई और कहा कि ईश्वर और अल्लाह एक हैं. इसके बाद विवाद खड़ा हो गया और इसके लिए फतवा जारी कर दिया गया. इस महिला ने कहा हमें ईद और दीवाली मिलजुल कर मनाने चाहिए सभी धर्म एक हैं.

गणेश चतुर्थी के मौके पर एक मुस्लिम महिला अपने घर में गणपति बाबा की मूर्ति लेकर आ गई. जिसके बाद परिवार वाले भी इस नजारे को देखकर हैरान रह गए और जब इस बात की जानकारी धार्मिक गुरुओं को हुई तो उन्होंने इस महिला के खिलाफ फतवा जारी कर दिया. बता दें, यह महिला 31 अगस्त को इस मूर्ति को लेकर आई थी और पिछले काफी समय से हिंदू रीति-रिवाजों के अनुसार गणपति बाबा की पूजा कर रखी है और इसके खिलाफ जितने भी फतवे जारी किए जा रहे हैं. उनका इस पर कोई असर नहीं है. यह कहती है सारे धर्म एक है और हम इंसानों ने धर्मों को बांट दिया है.

जिस मुस्लिम महिला के बारे में हम आपसे बात कर रहे हैं. वह अलीगढ़ जिला उत्तर प्रदेश की रहने वाली हैं और इनका नाम रूबी आसिफ खान है. जो भारतीय जनता पार्टी महिला मोर्चा की अध्यक्ष हैं. यह कहती हैं वह हर त्योहार को मनाती हैं. इन्हें कोई फर्क नहीं पड़ता कौन सा त्यौहार हिंदुओं का है और कौन सा त्यौहार मुस्लिमों का है. यह कहती हैं हमें सामाजिक सौहार्द बना कर रहना चाहिए. धार्मिक उन्माद से हमारा ही नुकसान होता है. उन्होंने कहा वह पिछले कई दिनों से गणपति बाबा की पूजा पाठ हिंदू रीति-रिवाजों के अनुसार कर रही हैं और उन्हें बाकायदा मोदक का भोजन भी जा रही हैं. इस दौरान परिवार वाले भी साथ रहते हैं.

जब से रूबी आसिफ खान ने अपने घर में गणपति बाबा की मूर्ति स्थापित की है. तब से ही उनके खिलाफ कई जगह फतवे जारी किए जा चुके हैं. वहीं कई जगह से जान से मारने की धमकी मिल रही है, लेकिन इन धमकियों से शुरू हुई आसिफ खान बिल्कुल भी नहीं डर रही है और वह बाकायदा गणपति बप्पा की पूजा पाठ कर रही है. इनका कहना है 7 दिन बाद वह इस मूर्ति का विसर्जन करेंगी. इनका कहना है वह भगवान और अल्लाह को एक मानती हैं. इसलिए वह इस काम को कर रही हैं.

Back to top button