India

छोटे से गांव में पले बढ़े लड़के ने साइंटिस्ट बनकर मां- बाप का सीना चौड़ा कर दिया

यूपी के बाँदा जिले के एक छोटे से गांव के रहने वाले हैं प्रभात ओझा, प्रभात का गांव भले ही छोटा है लेकिन अब इन्होनें शिक्षा के दम पर अपने गांव का नाम तो ऊँचा किया ही है. साथ जिले का नाम भी रौशन कर दिया है. प्रभात ओझा ने साइंटिस्ट की परीक्षा को पास किया है उन्होंने इस परीक्षा में अच्छे खासे अंक हासिल किए हैं. बता दें, इनका चयन राष्ट्रीय सूचना विज्ञान केंद्र सूचना एवं प्रौद्योगिकी में हुआ है. जिसे आमतौर पर Nic IT के रूप में जाना जाता है. इन्होंने पूरे देश में 44 वी रैंक हासिल की है. उनका सिलेक्शन बी ग्रेड के लिए किया था.

प्रभात ओझा ने दिखा दिया है अगर आप की दृढ़ इच्छाशक्ति मजबूत है और आप सच्चे दिल से परिश्रम करते हैं तो आप किसी भी परीक्षा को पास कर सकते हैं. बचपन से ही मेधावी छात्र रहे प्रभात ओझा ने 10 वीं और 12 वीं की परीक्षा में भी अच्छे खासे अंक हासिल किए थे. उन्होंने 10 वीं और 12 वीं की परीक्षा खूब मेहनत करने के बाद पास की थी और इसी के दम पर इनका एडमिशन एक अच्छे इंजीनियरिंग कॉलेज में हो गया था और यहां से उन्होंने पढ़ाई करके बी टेक की डिग्री ली थी. बी टेक की पढ़ाई करने के बाद इन्होंने नौकरी करने की प्लानिंग को साइड रखकर गेट की परीक्षा दी थी. गेट की परीक्षा पास करने के बाद यह आईआईटी गुवाहाटी में भी पढ़ाई करने के लिए गए थे.

जहां पर इन्होंने दिल लगाकर पढ़ाई की और आखिरकार इन्हें रेलवे में बतौर इंजीनियर के पद पर नौकरी मिल गई. लेकिन प्रभात ओझा का यह संघर्ष भरा सफर यहीं नहीं थमा. उन्होंने एक और बार परीक्षा दी. इस बार परीक्षा साइंटिस्ट बनने की थी. पिछले दिनों ही इस परीक्षा का रिजल्ट आया. इस परीक्षा में भी इन्हें अच्छे खासे अंक हासिल किए और यह साइंटिस्ट के तौर पर सिलेक्ट भी हुए. इस रिजल्ट के बाद इनको तो गर्व है ही. साथ ही उनके परिवार वालों को भी अपने बेटे पर बेहद गर्व है इनका इलाके में नाम हो गया है.

Back to top button