BusinessIndia

महज 9 वर्ष की उम्र में कंपनी का सीईओ बन गया यह लड़का, दे दिया कई लोगों को रोजगार

9 -10 साल के बच्चे से उम्मीद की जाती है वह सलीके से स्कूल जाए और स्कूल के सारे काम को समय पर करें और फिर थोड़ा बहुत ध्यान खेलकूद की तरफ लगाए. लेकिन इस आर्टिकल में हम आपको एक ऐसे लड़के के बारे में बताने वाले हैं. जिसने इस उम्र में ही वेबसाइट लांच कर दी थी और खास बात रही कि इस लड़के ने खुद ही इस वेबसाइट को कोडिंग के थ्रू डिजाइन किया था. जिस उम्र में बच्चे क्लास का मॉनिटर बनने की सोचते हैं. उस उम्र में यह लड़का एक कंपनी का सीईओ बन गया था. जी हां, हम अद्वैत रविंद्र ठाकुर के बारे में बात कर रहे हैं. जो तमाम लोगों के लिए प्रेरणास्रोत हैं और बहुत कम उम्र में ही कई वेबसाइट्स चला रहे हैं.

अद्वैत रविंद्र ठाकुर ने महज 9 वर्ष की उम्र में ही पहली वेबसाइट बना दी थी. इस वेबसाइट को इन्होंने खुद ही अपने कोडिंग टैलेंट के दम पर डिजाइन किया था. इन्हें महज 6 वी कक्षा में ही कोडिंग का ज्ञान हो गया था. जब इनकी उम्र 6 वर्ष थी तब इनके पिताजी ने इन्हें एक सेकंड हैंड कंप्यूटर लेकर दे दिया था और इसीसे इन्होंने टेक्नोलॉजी की बारीकियां सीखी और 9 बरस की उम्र आते-आते इन्होंने खुद की वेबसाइट डिजाइन कर दी थी. वर्तमान समय की बात करें तो अद्वैत रविंद्र ठाकुर के पास कई वेबसाइट्स हैं यानि ये कई कंपनियों को बतौर सीईओ चला रहे हैं. अद्वैत रविंद्र ठाकुर ने 9 वर्ष की उम्र में इंटरनेट सॉल्यूशन के नाम से वेबसाइट शुरू करी थी. यह वेबसाइट वर्तमान समय में काफी पॉपुलर वेबसाइट हो चुकी है.

अद्वैत रविंद्र ठाकुर ने 9 वर्ष की उम्र में इंटरनेट सलूशन के नाम से वेबसाइट तो शुरू कर दी थी लेकिन इन्हें और कुछ बड़ा करना था. इसी सिलसिले में उन्होंने कोडिंग ट्यूटोरियल्स के जरिए वेबसाइट बनाना शुरू कर दिया था और साथ ही डिजिटल मार्केटिंग के जरिए भी पैसा कमाने लगे थे. अद्वैत बताते हैं वह बचपन से ही प्रोग्रामिंग लैंग्वेज की किताब पढ़ते आए हैं. स्कूल कोर्स को कंप्लीट करने के बाद वह प्रोग्रामिंग लैंग्वेज पर आधारित किताबे पढ़ते थे. जिससे उनका बेस मजबूत हुआ है.

अद्वैत रविंद्र ठाकुर की उम्र भले ही छोटी है लेकिन उनके हौसले और सपने बड़े बड़े हैं. अब तक यह कई बड़े बड़े कारनामे कर चुके हैं. बता दें, उन्होंने पिछले दिनों ही टेक्नोलॉजी क्विज नाम से एक ऐप भी बनाया था. यह ऐप प्ले स्टोर पर मौजूद है. इन्हें साल 2018 में देश के टॉप Entrepreneur की लिस्ट में भी शामिल किया गया था.

Back to top button