International

12 साल की उम्र के बाद इस गांव में लड़की बन जाती है लड़का, वैज्ञानिक भी असमंजस में

एक लड़की या लड़का एक निश्चित उम्र के बाद यौवन में प्रवेश करने के बाद कई बदलावों से गुजरता है। जिसमें किसी की आवाज भारी हो जाती है तो लड़की हो या लड़के में भी शारीरिक बदलाव देखने को मिलते हैं। लेकिन आज हम आपको एक ऐसे गांव के बारे में बताएंगे जहां एक लड़की एक निश्चित उम्र के बाद लड़का बन जाती है। यह कोई मजाक नहीं बल्कि हकीकत है।

क्या आप यह जानकर हैरान हैं? लेकिन यह एक सच्चाई है। एक मीडिया रिपोर्ट के अनुसार डोमिनिकन गणराज्य के देश में ला सेलिनास नाम का एक गांव है, इस गांव की अजीब बात यह है कि एक निश्चित उम्र के बाद लड़कियां अपना लिंग लड़कों में बदल लेती हैं, यहां तक ​​कि वैज्ञानिक भी इसके पीछे का कारण नहीं जान पाए।

ला सालिनास गांव की आबादी करीब 6 हजार है। इस गांव में कई लड़कियां 12 साल की उम्र में लड़के बन जाती हैं। इस बीमारी से गांव के लोगों को परेशानी हो रही है। तो यह बीमारी और गांव दुनिया भर के शोधकर्ताओं के लिए शोध का विषय है, लेकिन सटीक कारण ज्ञात नहीं है। तो 12 साल बाद लड़का बनने वाली लड़की को डॉक्टर ‘जेनेटिक डिसऑर्डर’ कहते हैं।

इस रोग से पीड़ित बच्चों को स्थानीय भाषा में ‘स्यूडोहर्माडाइटिस’ कहा जाता है। जिन लड़कियों को यह विकार होता है, उनके शरीर के अंग एक निश्चित उम्र के बाद पुरुष बन जाते हैं। जिन लड़कियों की आवाज पतली होती है उनकी आवाज भारी हो जाती है। 90 में से 1 बच्चा इस रहस्यमयी बीमारी से जूझ रहा है।

अगर बात करें इस बीमारी की, जो लड़कियों के रूप में पैदा होने वाले बच्चों में समय के साथ पुरुष अंग बनने लगती है। उसकी आवाज भारी हो जाती है और धीरे-धीरे उसका शरीर बदल जाता है, इसके बाद वह लड़की से लड़के में बदल जाता है।इस गांव में जब भी बेटी का जन्म होता है तो परिवार में मातम छा जाता है। परिवार जानता है कि यह लड़की बड़ी होकर लड़का बनेगी। इस वजह से इस गांव में लड़कियों की संख्या तेजी से घट रही है। ग्रामीण इस बीमारी से ग्रसित बच्चों को तुच्छ समझते हैं। इन बच्चों को ‘ग्वेदचे’ कहा जाता है। स्थानीय भाषा में ‘ग्वेदचे’ का अर्थ किन्नर होता है।

Back to top button